Archive | जनवरी 2014

You are browsing the site archives by date.

मेरी दिल्ली मैं ही बिगाड़ूं

मैडम लोगों से अपील कर रही थीं— भाइयो और बहनो! हमें भ्रष्टाचार को जमने नहीं देना है. जड़ समेत उखाड़ फेंकना है. यह बात भ्रष्टाचार ने सुन ली. वह पत्रकार का रूप धारण कर मैडम के सामने जा धमका— ‘जाने दीजिए मैडम, क्यों नाहक गाल बजा रही हैं, आपके मंत्री खुद भ्रष्टाचार में फंसे हैं. […]

Advertisement

Rate this: